thumb

23 फरवरी, 2018 को राजस्थान के जिला हनुमानगढ़ में, अलग-अलग जगहों पर कर्ज़ माफ़ी करने के लिये व आंदोलन में गिरफ्तार किसानों की रिहाई की मांग को लेकर विभिन्न संगठनों ने संयुक्त प्रदर्शन किया।
गौरतलब है कि विधानसभा का घेराव होने के एक दिन पहले, सरकार ने किसान नेताओं को गिरफ्तार कर लिया।

Hanumangarh 24 feb

यह घेराव सरकार की उस वादा-खिलाफ़ी के विरोध में था, जिसमें 50 हजार रुपये तक की कर्ज़ माफ़ी की बात कही गई थी। अपनी लंबित मांगों – किसानों की कर्ज़ा माफी, स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करने, 60 वर्ष की उम्र से ज्यादा के किसान को प्रतिमाह 5 हजार रुपये पेंशन देने, अवारा पशुओं से निजात दिलाने, आदि के समर्थन में किसान संगठनों ने 22 फरवरी को विधानसभा के घेराव का आह्वान किया था।
जेलों में बंद किए गए किसान नेताओं की रिहाई की मांग को लेकर, माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, किसान मज़दूर व्यापारी संघर्ष समिति, लोक राज संगठन, असींचित क्षेत्र संघर्ष समिति, ब्लाक कांग्रेस कमेटी ने मिलकर नोहर तहसील के भगत सिंह चैक पर सभा की।
सभा को लोक राज संगठन के सर्व हिन्द उपाध्यक्ष कामरेड हनुमान प्रसाद शर्मा, किसान मज़दूूर व्यापारी संघर्ष समिति के अध्यक्ष मदन बेनीवाल, माकपा के कामरेड सुरेश स्वामी, कांग्रेस अध्यक्ष सोहन ढिल के अलाव राकेश नेहरा और एडवोकेट राजेन्द्र सिहाग ने संबोधित किया।
सभा को संबोधित करते हुये वक्ताओं ने कहा कि राज्य सरकार अपनी पूरी ताक़त से किसानों के आंदोलन को दबाने व कुचलने में लगी हुई है। लेकिन सरकार के दमन के आगे किसान झुकने वाले नहीं हैं। किसान संगठनों द्वारा उठायी गई मांगें बिल्कुल जायज़ हैं। सरकार की दमनकारी नीतियों से आंदोलन और तेज़ होगा। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन के दौरान गिरफ्तार किये गये नेताओं को बिना शर्त रिहा किए बिना सरकार से कोई वार्ता नहीं होगी।
सभा के समापन के बाद, किसानों ने राज्य सरकार के खिलाफ़ नारेबाजी करते हुए मुख्य बाज़ारों से होते हुये, उपखंड कार्यालय तक एक जुलूस निकाला। वहां नायब तहसीलदार को राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन दिया गया, जिसमें किसानों की विभिन्न मांगों को अविलंब पूरा करने व किसान नेताओं की रिहाई की मांग की गई। इस मौके पर जिला परिषद सदस्य गौरी शंकर थोरी, एनडीवी छात्र संघ की पूर्व अध्यक्षा सुनीता कस्वां, बेरोज़गार शिक्षक संघ के संयोजक बलराम शर्मा, अनाज मंडी मज़दूर यूनियन के अध्यक्ष कालूराम सैनी के अलावा नियामत अली, आरीफ रावण, सुभाष सहू, रामप्रताप छिंपा, मोहन चबरवाल, दीप रेगर, विनोद सोनी, अर्जुन बेनीवाल, अनिल हालू, पुष्पा सैनी, आदि मौजूद थे।
हनुमानगढ़ में स्टूडेंट फेडरेशन आॅफ इंडिया ने उपरोक्त मांगों के समर्थन में एक विरोध कार्यक्रम आयोजित किया।
रामगढ़ में इंडियन स्टूडेंट फेडरेशन ने उपतहसील कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया, जिसमें राज्य की मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया गया। इस मौके पर एआईएसएफ के जिला संयोजक मनोज शर्मा, हिन्द नौजवान एकता सभा के जिला अध्यक्ष ओम प्रजापत तथा संदीप देव, प्रेम स्वामी, अजय शर्मा, दिनेश जास्ट, राजेन्द्र सुमित, विकास, लवली कुमार, देवेन्द्र, विजय, मंगल शर्मा आदि मौजूद थे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *