thumb

11 फरवरी, 2018 को दक्षिणी दिल्ली की सबसे बड़ी रिहायशी कालोनी संगम विहार के माखन चौक पर लोक राज संगठन ने अचीवर एम्बिशन अकादमी व एस.बी.कॉन्वेंट स्कूल के सहयोग से, नौजवानों के लिए एक प्रतियोगिता कार्यक्रम का आयोजन किया। इस प्रतियोगिता का मुख्य शीर्षक था लोगों की है मांग सबको मिले, सुखसुरक्षा, रोजगार व सम्मान। इस प्रतियोगिता में 300 छात्रछात्राओं ने भाग लिया। इसमें चित्रकला, निबंध लेखन तथा क्वीज प्रतियोगिताएं थी। शाम को पुरस्कार वितरण समारोह में प्रतिभागियों और उनके मातापिता व परिवार समेत लगभग 500 लोग शामिल हुए।

Registration Competition in full swing
age Look at our drawings Prize winners
children performing Farzana addressing participants
Prof addressing the participants Suchi addressing the participants
Teacher addressing the participants Teacher addressing the participants
Birju addressing the participants Audience

निबंध लेखन में परंपरा से हटकर विषय दिए गए थे। जैसे कि स्कूल व कालोनी में समस्याएं और उसका समाधान, नोटबंदी आदि। उसी तरह से क्वीज व चित्रकला के विषय भी नयेनये ख्यालों पर आधारित थे।

शाम को पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया। इसमें लोक राज संगठन के पदाधिकारियों के अलावा स्थानीय अध्यापक आमंत्रित थे, जिन्होंने प्रतियोगियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। साथ ही, उन्होंने उपस्थित प्रतियोगियों और उनके साथ आए मातापिताओं को संबोधित भी किया। संबोधित करने वालों में थे सर्वहिन्द परिषद से प्रो. भरत सेठ व सुचरिता, दिल्ली परिषद सचिव बिरजू नायक, मदनपुर खादर विस्तार से सुश्री फ़रजाना, अचीवर एम्बिशन अकादमी से राजीव, स्थानीय लोक राज समिति से श्री ललित कुमार। सभी वक्ताओं ने अपने संबोधन में कहा कि हम अपने अधिकारों के लिए जागरुक रहें और उनके लिए लड़ें। उन्होंने कहा कि आज संगम विहार में घरघर में पीने का पानी का कनेक्शन नहीं है। आनेजाने के मुख्य रास्ते उबड़खाबड़ और पानी भरे हैं। स्कूल और अस्पताल जैसी बुनियादी जरूरत की चीजें यहां नहीं हैं। शौच के लिए सीवर सिस्टम नहीं हैं। इन सभी बुनियादी सुविधाओं पर हमारा अधिकार है। सभा को संबोधित करने वालों ने सभी से आह्वान किया कि हमें एकजुट होकर अपने अधिकारों के लिए लड़ने की जरूरत है।

यह कार्यक्रम को सफल करने में स्थानीय कार्यकर्ताओं ने बहुत योगदान दिया। कार्यक्रम से प्रेरित होकर कई स्थानीय नौजवान लोक राज संगठन के सदस्य बनने के लिए आगे आए।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *