img_4711.jpgगाजा़ पर इस्राईल के बर्बरतापूर्ण हमलों के खिलाफ सैकड़ों की संख्या में गुस्साये जनता ने नई दिल्ली में इस्राइली दूतावास के बाहर प्रदर्शन किया और अमरीकी-इस्राईली साम्राज्यवाद मुर्दाबाद के नारे बुलंद किये।

18 जुलाई 2014 को जमात-ए-इस्लामी हिंन्द, वेलफेयर पार्टी ऑफ इंडिया, लोक राज संगठन, आल इंडिया मुस्लिम मजलिस-ए-मुशावरत, मजलिश-ए-उलेमा-हिंद, जमियत अहल-ए-हदीस, स्टूडेंट इस्लामिक ऑरगेनाइजेशन ऑफ इंडिया, नेशनल कॉन्फरेंस आफ शिया उलेमा और कई मानव अधिकार संगठन ने मिलकर यह प्रदर्शन आयोजित किया।

img_4711.jpg

वक्ताओं ने बताया कि 200 से ज्यादा निर्दोश नागरिक, महिलाएं और बच्चे इस्राइली हमले में मारे गये हैं। हिन्दोस्तानी सरकार को इसमें हस्तक्षेप करना चाहिए। प्रदर्शनकारी भारत में इजराइली दूतावास को बंद करने की मांगकर रहे हैं।

लोक राज संगठन के वक्ता ने बताया कि फिलिस्तीनियों के जनसंहार पर केन्द्र सरकार की चुप्पी, हिन्दोतानी राज्य की साम्राज्यवादी मंसूबों को स्पट करती है। केन्द्र सरकार आज इजराइल और फिलिस्तीनी को एक तराजू पर रखकर भूल कर रही है, इतिहास उन्हें माफ नहीं करेगा।

प्रदर्शन का संचालन डा. एस.क्यू.आर. इल्यास ने किया।

img_4715.jpg

प्रदर्शन को संबोधित करने वालों में थे – डा. जफरूल इस्लाम खान, बिरजू नायक, मौलाना नियाज अहमद फारूखी, मोहम्मद अहमद, मौलाना अली असगर इमाम मेहदी, मौलाना मोहसिन तकवी, शरीक़ अंसार आदि।

ज्ञात रहे पिछले कुछ दिनों लगातार इस्राईली बर्बरतापूर्ण हमलों के खिलाफ दिल्ली में इस्राइली दूतावास के सामने रोज-रोज प्रदर्शन हो रहे हैं। इसमें बड़ी संख्या में, दिल्ली के प्रगतिशील, शांति-पसंद, मानवअधिकार और वाम पार्टियां, मुसलिम संगठन भाग ले रही हैं।

प्रदर्शन के अंत में, एक प्रतिनिधिमंडल ने संयुक्त राष्ट्रश्के महासचिव बान की मून के नाम ज्ञापन दिया।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *