20130320_begumpur1_copy.jpg20 मार्च 2013 को दिल्ली के बेगमपुर इलाके में लोक सत्ता पार्टी के नेतृत्व में लोक राज संगठन, नया दौर पार्टी व नेषनल यूथ पार्टी ने मिलकर एक जनसभा आयोजित की जिसका नारा था, Þरोटी, बिजली, पानी, शिक्षा, सुरक्षा और सम्मान सबके लियेÞ। रात का समय होने के बावजूद लगभग 150 लोगों ने इसमें भाग लिया, जिसमें कुछ महिलायें और बच्चे भी शामिल थे। जमा लोगों में काफी लोग आटो रिक्शा चालक थे।

 

सभा की अध्यक्षता में नया दौर पार्टी के डा. संजीव चिब्बर, लोक राज संगठन के प्रोफेसर डा. भरत सेठ, लोक सत्ता पार्टी के श्री अनुराग केजरीवाल और श्री बी. बी. तिवारी ने की और सभा का संचालन श्री दीपक गुप्ता ने किया। सभा को शुरू करते हुये, श्री गुप्ता ने कहा कि मौजूदा व्यवस्था में गहरी समस्यायें हैं व इसे जीवित रखने वाली भाजपा व कांग्रेस पार्टियों को उखाड़ फैंकने की जरूरत है।

अपना व्यक्तव्य में डा. सेठ ने बताया कि दिल्ली की मुख्य मंत्री शीला दीक्षित ने कुछ दिन पहले ही अपने बयान में कहा था कि अगर लोगों को बिजली के बिल ज्यादा लगते हैं तो उन्हें दो की जगह एक बल्ब जलाना चाहिये व एक ही पंखा चलाना चाहिये। यह बेहद शर्म की बात है कि हिन्दोस्तान के सबसे प्रमुख शहर में 21वीं सदी में, सरकार चाहती है कि आम लोग एक बल्ब और पंखे से काम चलायें। सरकार का फ़र्ज होना चाहिये कि वह लोगों की जरूरी वस्तुओं और सेवाओं को उचित दामों पर उपलब्ध कराना सुनिशिचत करे। उसके उल्टे, दिल्ली सरकार बिजली वितरण कंपनियों के मुनाफों को तेजी से बढ़ाने के उद्देश्य से बिजली की दरों में वृद्धि बढ़ा रही है और लोगों को पिछड़ेपन की तरफ धकेल रही है।

डा. सेठ ने बताया कि मौजूदा व्यवस्था लोगों के अधिकारों की रक्षा नहीं कर रही है। सरकार की नीतियां, लोगों के रोटी, बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य और आवास के अधिकार की रक्षा करना तो दूर, उन पर अभूतपूर्व हमले कर रही है। आटो रिक्षा चालकों की रोजी-रोटी का प्रश्न ही लीजिये, जब सरकार पेट्रोल, गेस इत्यादि की कीमतों को बढ़ाती है तो आटो चालकों और लोगों पर सीधा हमला होता है। सरकार खाध सुरक्षा का नाटक कर रही है। एक तरफ वह एक ऐसा विधेयक ला रही है जिसमें खाध सुरक्षा को सब लोगों का अधिकार नहीं माना गया है। इसमें शहरी आबादी के सिर्फ आधे लोगों को सिर्फ कुछ खाधान्न देने का आश्वासन है और उसके लिये भी जो जरूरी धन है वह सरकार बजट में नहीं जुटा रही है। अत:यह लोगों के बीच फूट डालने का एक तरीका होगा। दूसरी तरफ, कैश ट्रांसफर के नाम पर सरकार सार्वजनिक वितरण व्यवस्था को ही खत्म करने की कोशिश में है। साफ है कि सरकार असलियत में खाध सुरक्षा सुनिशिचत करने के पक्ष में नहीं है।

अंत में डा सेठ ने बताया कि कांग्रेस पार्टी व भाजपा जैसी पार्टियां सिर्फ मुट्टिभर पूंजीपति घरानों के हितों में काम करती हैं। उनकी प्रेरक शकित लोगों का कल्याण नहीं है। लोगों को अपने अधिकारों के लिये स्वयं लड़ना होगा। हमें बस्ती-बस्ती, मोहल्ले-मोहल्ले में अधिकारों की सुरक्षा के लिये संगठित होना होगा, अपनी समितियां बनानी होंगी। चुनावों में हमें कांग्रेस पार्टी व भाजपा को हराना होगा। आज की सभा एक बहुत अच्छी शुरुवात है जब लोगों की समस्याओं का हल करने के इच्छुक संगठन व पार्टियां एक साथ आ रहे हैं। चलो हम लोगों के अधिकारों की रक्षा के लिये साथ आयें।

20130320_begumpur2_copy.jpg

 

सभा को संबोधित करने वालों में श्री बी. बी. तिवारी ने बिजली क्षेत्र में धांधली और लूट पर बात रखी। श्री संजीव छिब्बर ने लोगों की बुरी परिसिथति पर बात करते हुये बताया कि अपने देश में लोगों को स्वच्छ पानी नहीं मिलता है, स्वास्थ सेवा व अच्छी शिक्षा नहीं मिलती और जहां सरकार अरबों रुपये हथियारों पर खर्च करती है, वहां व्यवस्था को बदलना जरूरी है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि देश को बचाने के लिये, डाक्टर, प्राध्यापक, और दूसरे पेशवर व्यकित नेताओं के अवतार में आ रहे हैं। श्री अनुराग केजरीवाल ने बताया कि बिजली क्षेत्र में सालाना 23,000 करोड़ रु. की चोरी हो रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी और भाजपा, दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दिल्ली क्षेत्र में एक और हमें इसका एक पर्याय निकालना होगा। उन्होंने सभी से आग्र्रह किया कि आने वाले चुनावों के लिये सभी को अपना समय इसके लिये निकालना चाहिये।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *