पुनर्वास की आस

Submitted by admin on Tue, 2017-06-06 17:51

एक अपील
न्यू संजय कैम्प ओखला 1 व 2 के उजाड़े गये परिवारों का दर्द
दक्षिणी दिल्ली के ओखला औद्योगिक क्षेत्र 1 और 2 के मध्य बसी झुग्गी बस्ती, न्यू संजय कैंप के 223 परिवारों को पुनर्वास के लिए भटकते हुए 8 साल से ऊपर हो चुके हैं। नोएडा-सरिता विहार अण्डर पास के लिए दिल्ली सरकार ने 5 फरवरी, 2009 को इन्हें उजाड़ दिया था।
जब इन परिवारों को उजाड़ा गया, तब तत्कालीन जनप्रतिनिधि - पार्षद, विधायक और सांसद व विपक्ष के नेता मूक-दर्षक बने रहे। घरों के टूटने के बाद भी उपरोक्त जनप्रतिनिधियों से कोई मदद नहीं मिली। अंततः पुनर्वास की मांग को लेकर प्रसिद्ध वकील प्रषांत भूषण ने हाई कोर्ट में एक अपील डाली। इस अपील पर दिल्ली उच्च न्यायालय की जस्टिस एपी शाह और एस. मुरलीधर की डबल बेंच ने 11 फरवरी, 2010 को उजाड़े गये 223 परिवारों को सरकार को बसाने का आदेष दिया और सरकार को कहा कि ‘झुुग्गी में रहने वालों के साथ, सरकार दोयम दर्जें के नागरिकों जैसा व्यवहार नहीं कर सकती हैं।‘
कोर्ट के आदेष के बावजूद, तत्कालीन सरकार ने पुनर्वास नहीं किया। 2 साल तक अनुनय-विनय के बाद सरकार ने पुनर्वास करने की दिषा में कोई कदम न बढ़ाने पर केस को सुप्रीम कोर्ट लेकर गये। लेकिन 2014 के विधानसभा चुनाव को देखते हुये तत्कालीन सरकार ने हमें पुनर्वास देने का वादा करके सुप्रीम कोर्ट से केस वापस ले लिया।
सरकार ने फिर एक बार धोखा किया। 223 परिवारों को पुनर्वास देने की जगह सिर्फ चार लोगों को पुनर्वास नीति के अन्तर्गत वैकल्पिक प्लाट अलाॅट कर दिये, लेकिन आज तक प्लाट पर कब्ज़ा नहीं दिया गया है। हालांकि इन चार व्यक्तियों से, प्रत्येक से 68,000 रुपये जमा कर लिये हैं।
वर्तमान सरकार को पुनर्वास के लिये कई बार पत्र लिखे गए। मुख्यमंत्री जनता दरबार को पत्र लिखे गए। इसके बावजूद, सरकार ने हमें बसाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। स्थानीय विधायक को कई सौ बार मौखिक तौर पर और 15 नवम्बर, 2016 और 3 जनवरी, 2016 को लिखित निवेदन भी दिया है।
आज दिल्ली में, ऐसे परिवारों की संख्या हजारों में है, जिन्हें बिना पुनर्वास के सड़क पर अकेले तड़पने के लिए छोड़ दिया गया है। जो आज हमारे साथ हो रहा है, वही भविष्य में आपके साथ हो सकता है!
कानूनी अधिकार के बावजूद पुनर्वास क्यों नहीं?

223 परिवारों के पुनर्वास की मांग को लेकर
दिल्ली सरकार के खिलाफ धरना
स्थान: मुख्यमंत्री आवास, सिविल लाइंस
दिनांक: 6 जून, 2017, दिन मंगलवार
आप सभी से आग्रह है कि धरना में एक दिन का अपना कीमती समय निकालकर शामिल हों
अपीलकर्ता
संपर्क: रामजीत-9971262069, चन्द्रमा जी-9910821250, दलीप शाह-99558823353, शिवबच्चन-9871782355, शिवप्रसाद उपाध्याय-9013696316, विरेन्दर मिश्रा-9811987539
न्यू संजय कैंप लोक राज समिति

Posted In: India    New Delhi    Delhi    All    General    Economy    Policies    Privatisation    Land Acquisition    Livelihood    Women    lok raj samiti    demolitions    rehabilitation    In Action