बाबरी मस्जिद के विध्वंस की 25वीं बरसी पर राजधानी में विशाल रैली

Submitted by admin on Wed, 2017-12-06 18:05

प्रेस नोट
6 दिसम्बर 2017, नयी दिल्ली

6 दिसम्बर को, बाबरी मस्जिद के विध्वंस की 25वीं बरसी के दिन बहुत से नागरिक व अनेक संगठनों के कार्यकर्ता मंडी हाऊस से संसद तक एक विशाल रैली में एक साथ आये।

25th anniversary of the demolition of Babri Masjid: Unite to demand justice! Only the empowerment of people can put an end to communal violence!

Submitted by admin on Mon, 2017-12-04 13:53

Statement of Lok Raj Sangathan, 3 December, 2017

On the 6th of December, which marks the 25th anniversary of the demolition of Babri Masjid, people will be pouring out in large numbers in several cities to demand that the guilty should be punished and justice delivered.

बाबरी मस्जिद के विध्वंस की 25वीं बरसी : न्याय की मांग के लिये एकजुट हो! लोगों को सत्ता में लाने से ही साम्प्रदायिक हिंसा को खत्म किया जा सकता है!

Submitted by admin on Mon, 2017-12-04 13:37

लोक राज संगठन का बयान, 3 दिसम्बर 2017

बाबरी मस्जिद का विध्वंस यह एक गुस्साई भीड़ का काम नहीं था जैसा कि सत्ताधारी बताते हैं। यह एक पहले से नियोजित काम था जिसके लिये उत्तर प्रदेश में भाजपा नीत सरकार और केन्द्र में कांग्रेस पार्टी नीत सरकार, दोनों, मिलकर जिम्मेदार थीं। बाबरी मस्जिद के विध्वंस के तुरंत बाद मुंबई, सूरत व अन्य स्थानों में बड़े पैमाने पर साम्प्रदायिक हिंसा की गयी। इसमें हजारों निर्दोष लोग मारे गये।

Joint demonstration and rally on the 25th anniversary of the demolition of Babri Masjid from Mandi House to Parliament

Submitted by admin on Sat, 2017-12-02 16:01

Thumbnail

You are invited to take part in a March from Mandi House Chowk to the Parliament and a Rally to mark the 25th anniversary of the demolition of Babri Masjid

Date: December 6, 2017

Venue: Mandi House

Time: 10:30 AM

 

Workers hold massive Mahapadav at Parliament in New Delhi

Submitted by admin on Tue, 2017-11-14 11:32

thumbThe Joint Platform of Central Trade Unions, comprising Central Trade Union Organisations and all major industry /establishment wise federations conducting a three days' 'mahapadav' (mass dharna) before Parliament against the anti-worker, anti-people and anti-national policies of the Central Government from November 9-11, 2017. Lakhs of workers from across the country participated in this huge protest.

1984 में राज्य द्वारा आयोजित सिखों के कत्लेआम की 33वीं बरसी पर विशाल रैली

Submitted by admin on Sun, 2017-11-12 12:29

1984 में राज्य द्वारा आयोजित सिखों के कत्लेआम की 33वीं बरसी के अवसर पर लोक राज संगठन सहित लगभग 20 संगठनों ने मिलकर सुप्रीम कोर्ट के सामने एक संयुक्त प्रदर्शन रैली आयोजित की.

लोक राज संगठन के अध्यक्ष एस राघवन ने हिन्दोस्तानी राज्य पर सवाल उठाते हुए कहा कि, हम इस राज्य को जनतांत्रिक कैसे कह सकते है, जब यह राज्य इंसाफ के संघर्ष कर रहे रहे लोगों को रैली निकालने से रोकता है. इस अवसर पर इतने सारे संगठनों का एक साथ आना यह साफ़ दिखता है कि 1984 की इस कत्लेआम को ना तो हम भूल सकते है और ना ही हम गुनाहगारों को माफ़ कर सकते है.

Share Everywhere